Vande Gujarat News
Breaking News
Agriculture BJP Breaking News Congress Farmer Govt India National Political Protest

किसानों के साथ आज की बैठक भी बेनतीजा, सरकार ने और मोहलत मांगी, 9 दिसंबर को फिर मिलेंगे

किसान सरकार से अब हां या ना में जवाब चाह रहे हैं. आज पांचवें दौर की वार्ता के दौरान किसान नेता शांत बैठ गए थे. किसान नेता एक पन्ने पर हां या ना यानी यस या नो लिखकर बैठे थे.

कृषि कानूनों को लेकर सरकार और किसानों के बीच गतिरोध जारी है. शनिवार को 5वें दौर की वार्ता भी बेनतीजा रही. आज की बैठक में सरकार ने किसानों से और वक्त मांगा. अब 9 दिसंबर को सुबह 11 बजे फिर सरकार और किसान नेताओं की बातचीत होगी.

बैठक के बाद किसान नेताओं ने कहा कि केंद्र सरकार ने कहा है कि वे हमें 9 दिसंबर को एक प्रस्ताव भेजेंगे. हम (किसान) आपस में इस पर चर्चा करेंगे, जिसके बाद उसी दिन उनके साथ बैठक होगी. वहीं, किसान नेता बूटा सिंह ने कहा कि हम कानून रद्द करा कर ही मानेंगे. इससे कम पर हम मानने वाले नहीं हैं.

किसान सरकार से अब हां या ना में जवाब चाह रहे हैं. आज दिल्ली के विज्ञान भवन में पांचवें दौर की वार्ता के दौरान किसान नेता शांत बैठ गए थे. और मंत्री आपस में बात करने के लिए बाहर चले गए थे. किसान नेता एक पन्ने पर हां या ना यानी यस या नो लिखकर बैठे थे. किसान संगठन के नेता बैठक में मंत्रियों के सामने यस या नो प्ले कार्ड लेकर बैठ गए.

किसान संगठनों ने सरकार से कहा कि हमारे पास एक साल की सामग्री है. सरकार को तय करना है वो क्या चाहती है. किसान नेताओं ने सरकार से कहा कि आप बता दीजिए कि आप हमारी मांग पूरी करेंगे या नहीं.

वार्ता के दौरान किसान नेता सरकार से बेहद नाराज नजर आए. किसान नेताओं ने कहा कि सरकार हमारी मांगों पर फैसला ले, नहीं तो हम बैठक से जा रहे हैं. किसानों संगठनों के नेताओं ने बैठक में कनाडा के प्रधानमंत्री के बयान का हवाला दिया. किसान नेताओं ने कहा कि नए कृषि कानूनों पर कनाडा के प्रधानमंत्री और वहां की संसद चर्चा कर रही है, लेकिन हमारी सरकार हमारी बात को नहीं सुन रही.

किसान संगठनों ने बैठक में कहा कि हम सरकार से चर्चा नहीं, ठोस जवाब चाहते हैं वो भी लिखित में. अब तक बहुत चर्चा हो चुकी है. बैठक में सरकार ने कहा कि कानून रद्द करने के अलावा कोई और रास्ता निकाला जाए. सरकार की तरफ से संशोधन की बात रखी गई. वहीं, दूसरी तरफ किसान नेता कृषि कानून रद्द कराने पर अड़े रहे. सरकार ने संशोधन का प्रस्ताव दिया, जिसे किसान नेताओं ने ठुकरा दिया.

 

संबंधित पोस्ट

બુટલેગરોમાં નવનિયુક્ત SP ડૉ.લીના પાટીલનો ભય, દારૂની ડિલિવરી નહીં કરી શકતા દારૂ ભરેલો ટેમ્પો છોડીને બુટલેગર ફરાર

Vande Gujarat News

નેત્રંગ તાલુકાનાં ફુલવાડી ગામની પ્રાથમિક શાળામાં તસ્કરો ત્રાટક્યા.

Vande Gujarat News

સરકાર ખેડૂતો, મહિલાઓ અને SC-STને ડ્રોન ખરીદવા માટે 50% સબસિડી આપશ

દાનહમાં 21 એકરમાં 50 કરોડના ખર્ચે સુભાષચંન્દ્ર બોઝ સૈનિક સ્કૂલ બનશે

Vande Gujarat News

भारतीय दूतावासों के बाहर प्रदर्शन के आरोप में खालिस्तानी आतंकियों के खिलाफ नई FIR

Vande Gujarat News

मोहम्मद अली जिन्ना के नाम पर शराब का नाम, लिखा- ‘इन द मेमोरी ऑफ द मैन ऑफ प्लेजर’

Vande Gujarat News