Vande Gujarat News
Breaking News
AgricultureBJPBreaking NewsCongressFarmerGovtIndiaNationalPoliticalProtest

किसानों के साथ आज की बैठक भी बेनतीजा, सरकार ने और मोहलत मांगी, 9 दिसंबर को फिर मिलेंगे

किसान सरकार से अब हां या ना में जवाब चाह रहे हैं. आज पांचवें दौर की वार्ता के दौरान किसान नेता शांत बैठ गए थे. किसान नेता एक पन्ने पर हां या ना यानी यस या नो लिखकर बैठे थे.

कृषि कानूनों को लेकर सरकार और किसानों के बीच गतिरोध जारी है. शनिवार को 5वें दौर की वार्ता भी बेनतीजा रही. आज की बैठक में सरकार ने किसानों से और वक्त मांगा. अब 9 दिसंबर को सुबह 11 बजे फिर सरकार और किसान नेताओं की बातचीत होगी.

बैठक के बाद किसान नेताओं ने कहा कि केंद्र सरकार ने कहा है कि वे हमें 9 दिसंबर को एक प्रस्ताव भेजेंगे. हम (किसान) आपस में इस पर चर्चा करेंगे, जिसके बाद उसी दिन उनके साथ बैठक होगी. वहीं, किसान नेता बूटा सिंह ने कहा कि हम कानून रद्द करा कर ही मानेंगे. इससे कम पर हम मानने वाले नहीं हैं.

किसान सरकार से अब हां या ना में जवाब चाह रहे हैं. आज दिल्ली के विज्ञान भवन में पांचवें दौर की वार्ता के दौरान किसान नेता शांत बैठ गए थे. और मंत्री आपस में बात करने के लिए बाहर चले गए थे. किसान नेता एक पन्ने पर हां या ना यानी यस या नो लिखकर बैठे थे. किसान संगठन के नेता बैठक में मंत्रियों के सामने यस या नो प्ले कार्ड लेकर बैठ गए.

किसान संगठनों ने सरकार से कहा कि हमारे पास एक साल की सामग्री है. सरकार को तय करना है वो क्या चाहती है. किसान नेताओं ने सरकार से कहा कि आप बता दीजिए कि आप हमारी मांग पूरी करेंगे या नहीं.

वार्ता के दौरान किसान नेता सरकार से बेहद नाराज नजर आए. किसान नेताओं ने कहा कि सरकार हमारी मांगों पर फैसला ले, नहीं तो हम बैठक से जा रहे हैं. किसानों संगठनों के नेताओं ने बैठक में कनाडा के प्रधानमंत्री के बयान का हवाला दिया. किसान नेताओं ने कहा कि नए कृषि कानूनों पर कनाडा के प्रधानमंत्री और वहां की संसद चर्चा कर रही है, लेकिन हमारी सरकार हमारी बात को नहीं सुन रही.

किसान संगठनों ने बैठक में कहा कि हम सरकार से चर्चा नहीं, ठोस जवाब चाहते हैं वो भी लिखित में. अब तक बहुत चर्चा हो चुकी है. बैठक में सरकार ने कहा कि कानून रद्द करने के अलावा कोई और रास्ता निकाला जाए. सरकार की तरफ से संशोधन की बात रखी गई. वहीं, दूसरी तरफ किसान नेता कृषि कानून रद्द कराने पर अड़े रहे. सरकार ने संशोधन का प्रस्ताव दिया, जिसे किसान नेताओं ने ठुकरा दिया.

 

संबंधित पोस्ट

શ્રી હરીઓમ સત્સંગ મંડળ દ્વારા જીટીયુને પદવીદાન સમારંભના ગોલ્ડ મેડલ માટે રૂપિયા 3 લાખનું દાન મળ્યું.

Vande Gujarat News

રાજ્ય સરકારની પ્રેરણાથી રાસાયણિક ખેતીને છોડીને જૈવિક ખેતી તરફ આગળ વધવાની રાહ મળી છે: લાભાર્થી ગોપાલભાઈ પટેલ

Vande Gujarat News

ખેડ.. ખેડ.. વડાલી.. ભીલોડા.. હેડો..હેડો… વડાપ્રધાને સ્થાનિક લહેકામાં કહેલી સાંબરકાંઠાની વાત સાંભળીને મુખ્યમંત્રી ભૂપેન્દ્ર પટેલ હસવું ન રોકી શક્યા

Vande Gujarat News

सरकार 30 जनवरी को बुलाएगी सर्वदलीय बैठक, एक फरवरी को सीतारमण पेश करेंगी केंद्रीय बजट

Vande Gujarat News

અમેરિકાની ખ્યાતનામ કંપની દ્વારા ભરૂચના મહાનુભાવોને એવોર્ડ એનાયત કરી સન્માનિત કરવામાં આવ્યા

Vande Gujarat News

अहमदाबाद: मिशन वैक्सीन पर PM मोदी, Zydus की तारीफ की, बोले-हर मदद को तैयार

Vande Gujarat News