Vande Gujarat News
Breaking News
Breaking NewsDefenseGovtIndiaNationalWorld News

49 साल बाद उम्मीद:1971 की जंग में जालंधर के मंगल पाकिस्तान में अरेस्ट हुए थे, अब पत्नी को मैसेज मिला- पति जिंदा हैं

75 साल की सत्या देवी के संघर्ष की कहानी आम महिलाओं के लिए एक मिसाल है। उनके पति मंगल सिंह को 1971 में पाकिस्तानी सेना ने गिरफ्तार कर लिया था। उस वक्त मंगल की उम्र महज 27 साल थी। सत्या की गोद में दो बेटे थे। एक 3 और दूसरा 2 साल का था। तभी से सत्या ने पति के इंतजार में कई दशक गुजार दिए।

बच्चों को पालने-पोसने के साथ पति के इंतजार की उम्मीद नहीं छोड़ी। भारत सरकार को कई पत्र भेजने के करीब 8 साल बाद उनकी कोशिशें रंग लाईं। अब 49 साल बाद राष्ट्रपति कार्यालय की तरफ से खत भेजकर सत्या को उनके पति के जिंदा होने की जानकारी दी गई है। इसमें बताया गया है कि मंगल पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में बंद हैं। पाक सरकार से बात कर उनकी रिहाई की कोशिशों में तेजी लाई जाएगी।

पिता को याद कर बेटे की आंख भर आई
सत्या और उनके दो बेटे पिछले 49 साल से मंगल को देखने की राह देख रहे थे। पिता को याद करते डरौली खुर्द के रहने वाले रिटायर्ड फौजी दलजीत सिंह ने भास्कर से बातचीत की तो उनकी आंखों से आंसू छलक गए।

उन्होंने बताया, ‘बात 1971 की है, जब रांची में लांस नायक के पद पर उनके पिता को कोलकाता ट्रांसफर कर दिया गया। अचानक बांग्लादेश के मोर्चे पर ड्यूटी लग गई। 1971 में एक दिन सेना से टेलीग्राम आया कि बांग्लादेश में सैनिकों को ले जा रही एक नाव डूब गई और उसमें सवार मंगल सिंह समेत सभी सैनिक मारे गए। फिर 1972 में रावलपिंडी रेडियो पर मंगल सिंह ने संदेश दिया कि वह ठीक हैं। उसके बाद से अब तक उनकी वापसी की राह देख रहे थे। उस समय हमने रिहाई के लिए जोर लगाया मगर कोई मदद नहीं मिल पाई।’

पत्नी को रिहाई की उम्मीद
मगर सत्या देवी के दृढ़ निश्चय ने मंगल सिंह को भारत वापस आने की रोशनी दिखाई दी। सत्यादेवी ने बताया कि इससे पहले कई सरकारें गई और कई आईं, लेकिन मदद नहीं मिली। कहा अब जाकर उम्मीद बंधी है कि पति की रिहाई होगी।

दलजीत ने बताया कि पिता कोट लखपत जेल में बंद हैं, तब मैं सिर्फ तीन साल का था। सितंबर 2012 में भास्कर में ही एक खबर छपी कि पाकिस्तान की जेल में 83 सैनिक बंद हैं और इनमें मंगल सिंह भी एक हैं। इसके बाद सत्या देवी ने सरकार को पत्र लिखने का सिलसिला शुरू किया और अब दिसंबर 2020 में इन कोशिशों का जवाब मिला है।

संबंधित पोस्ट

અંકલેશ્વર GIDCમાં GSTના દરોડા: 10 કન્ટેઈનર ચકાસ્યા

Vande Gujarat News

મંત્રી ઇશ્વરસિંહ પટેલના પ્રયાસોથી વર્ષોથી ભરૂચના અંકલેશ્વર તરફના નર્મદા નદીના કાંઠા વિસ્તાર માં થઇ રહેલ જમીનોનું ધોવાણ અટકાવવા જે તે સબંધિત વિભાગને કાર્યવાહી કરવા સી.એમ વિજય રૂપાણીએ આપી સૂચના 

Vande Gujarat News

સ્કોટગ્લાસ પ્રા.લી. કંપની દ્વારા “ICU on Wheel” એમ્બ્યુલન્સ જંબુસરની જનરલ હોસ્પિટલને સેવાર્થે અર્પણ કરાઈ

Vande Gujarat News

ગાંધીજીની જન્મ ભૂમી અને કૃષ્ણ સખા સુદામાજીની પવિત્ર ભૂમિ તરીકે દેશ-વિદેશમાં પ્રખ્યાત પોરબંદરનું એરપોર્ટ શોભાના ગાંઠીયા સમાન

Vande Gujarat News

વણસેલા ટીબી જેવી ગંભીર બીમારીમાંથી સાજા થયેલ પ્રકાશ રાઠવા એ ગુજરાત ના શ્રેષ્ઠ અને સ્માર્ટ ખેડૂતોમાં સ્થાન મેળવ્યું.

Vande Gujarat News

વીડિયો ગેમના પાત્રોનો સંગ્રહ કરી ગિનિસ વર્લ્ડ રેકોર્ડ બનાવ્યો, કલેક્શનમાં છે 3050 કેરેક્ટર

Vande Gujarat News